Author: Karma Ayurveda

आयुर्वेदिक प्रोटीनुरिया उपचार और आहार योजना

आयुर्वेदिक प्रोटीनुरिया उपचार और आहार योजना

हर स्वास्थय विकार के लिए समय पर और सही उपचार द्वारा इलाज की आवश्यकता होती हैं। प्रोटीनिनिया एक स्वास्थ्य विकार हैं जिसमें किडनी प्रोटीन को पेशाब के साथत समाप्त होने से रोकने में अधिक सक्षम नहीं होते हैं। प्रोटीन शरीर के लिए बिल्डिंग ब्लॉक के रूप में काम करता हैं और कई महत्वपूर्ण कार्य करता है। इंफेक्शन से सुरक्षा रक्त के थक्के को रोकें और उपचार करें पूरे शरीर में रक्त परिसंरचण को विनियमित करें प्रोटीनुरिया एक ऐसी स्थिति है जिसमें रक्त में प्रोटीन का ...

ऑर्थोस्टैटिक प्रोटीनुरिया उपचार

ऑर्थोस्टैटिक प्रोटीनुरिया उपचार

ऑर्थोस्टैटिक प्रोटीनुरिया या पोस्टुरल प्रोटीनुरिया को रात के दौरान सामान्य पेशाब प्रोटीन उत्सर्जन के रूप में परिभाषित किया जाता हैं, लेकिन दिन के दौरान वृद्धि हुई उत्तेजना, गतिविधि और ईमानदान मुद्रा से जुड़ी होती हैं। एक पूर्ण पेशाब प्रोटीन उत्सर्जन बढाया जा सकता हैं और अंतनिर्हित किडनी की बीमारी के साथ जुड़े होने की अधिक संभावना हैं। एक आयुर्वेदिक ऑर्थोस्टेटिक प्रोटीनुरिया उपचार बीमारी की तेजी से वसूली में मदद कर सकता हैं। ऑर्थोस्टैटिक प्रोटीनुरिया संकेत किडनी फेल्योर के लक्षण बेहद सामान हैं। इसमें ऑलिगुरिया हैं ...

कर्मा आयुर्वेदा । किडनी पेशेंट – राज बहादुर सिंह

किडनी पेशेंट राज बहादुर सिंह

रोगी का नाम राज बहादुर सिंह हैं जो किडनी की बीमारी से पीड़ित थे। इस बीमारी में उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। डॉक्टर ने उन्हें कह दिया था कि, इस बीमारी का कोई इलाज नहीं हैं। इलाज से पहले हाथ, पैरों और टखने में सूजन उच्च क्रिएटिनिन लेवल – 4 mg/dL आयुर्वेदिक उपचार भारत का एकमात्र किडनी उपचार केंद्र कर्मा आयुर्वेदा जिसमें आयुर्वेदिक दवा से मरीजों का इलाज करके उन्हें रोग से मुक्त किया हैं। ऐसे ही राज बहादूर नाम के ...

पॉलीसिस्टिक किडनी डिजीज का बेस्ट निदान

पॉलीसिस्टिक किडनी डिजीज का बेस्ट निदान

हमारे शरीर के अंदर के दो किडनी कई विकारों और बीमारियों से जुड़े होते हैं। निस्पंदन अनुभाग होने के नाते किडनी कई विकारों और बीमारियों से जुड़े होते हैं। पॉलीसिस्टिक किडनी रोग एक ऐसी किडनी की बीमारी हैं जिसमें बहुत अधिक तरल पदार्थ भरे हुए सिस्ट किडनी के अंदर विकसित हो जाते हैं। ये सिस्ट्स नॉनकैंसर होते हैं, लेकिन अगर ये बिना इलाज के रह जाए तो किडनी को पूरी तरह से नुकसान पंहुचा सकती हैं। इसके अलावा, पॉलीसिस्टिक किडनी डिजीज भी यकृत के अंदर ...