Author: Karma Ayurveda

कर्मा आयुर्वेदा । किडनी पेशेंट – मोहम्मद निहाल के साथ सीधा प्रसारण

किडनी पेशेंट मोहम्मद निहाल

इलाहाबाद से आए रोगी मोहम्मद निहाल जो आज सीधा प्रसारण में शामिल हैं। मोहम्मद निहाल किडनी की बीमारी के मरीज थे और ये बहुत से तकलीफों से जूझ रहे थे, बहुत-सी परेशानियों का सामना करना पड़ रहे थे। इलाज से पहले भूख न लगना थकान महसूस होना शरीर के कुछ हिस्सों में सूजन आना क्रिएटिनिन लेवल का लगातार बढ़ना आयुर्वेदिक इलाज के बाद कर्मा आयुर्वेदा से आयुर्वेदिक उपचार प्राप्त करने के बाद रोगी में बहुत से बदलाव और सुधार देखने को मिले। जी हां, कर्मा ...

योगा द्वारा क्रिएटिनिन को कैसे कम किया जा सकता हैं?

योगा द्वारा क्रिएटिनिन को कैसे कम किया जा सकता हैं

क्रिएटिनिन क्या हैं? क्रिएटिनिन शरीर की मांसपेशियों का टूटना उत्पाद हैं। ये आमतौर पर शरीर द्वारा मांसपेशियों के द्रव्यमान के आधार पर काफी स्थिर दर पर निर्मित होता हैं। यह अनायास क्रिएटिनिन के चक्रिय व्युप्पन्न द्वारा बनता हैं जो मुख्य रूप से किडनी द्वारा रक्त से बाहर फिल्टर किया जाता हैं। इस प्रक्रिया में किडनी द्वारा पेशाब में एक छोटी मात्रा को सक्रिय रूप से स्रावित किया जाता हैं और यहां कम ट्यूबलर पुन: अवशोषण होता हैं। रक्त में इसके स्तर में वृद्धि किडनी समारोह ...

किडनी डिजीज और क्रिएटिनिन लेवल

किडनी डिजीजके साथ सामान्य क्रिएटिनिन

क्रिएटिनिन मांसपेशियों के कार्यों का एक उत्पाद हैं जिसे किडनी द्वारा पेशाब में रूप में बाहर निकाल दिया जाता हैं। व्यक्ति के जितना अधिक क्रिएटिनिन होगा उतनी अधिक पेशी होगी। सामान्य किडनी समारोह वाले पुरूषों में क्रिलिटर प्रति 0.6 -1.2 मिलीग्राम के बीच सामान्य क्रिएटिनिन का स्तर होगा, जबकि महिलाओं में ये प्रति डेसीलीटर 0.5 – 1.1 मिलीग्राम के बीच होता हैं। महिलाओं के शरीर में कम मांसपेशियां होती हैं, इसलिए बनाई गए क्रिएटिनिन मात्रा में कम होगी। किडनी पेशाब के निर्माण, हार्मोन के स्राव ...

गुर्दे की विफलता के लिए आईसीडी 10 कोड – एक्यूट किडनी उपचार

गुर्दे की विफलता के लिए आईसीडी 10 कोड

मानव में रीनल फेल्योर दो प्रकार की होते हैं। एक्यूट (एआरएफ) और दूसरी क्रोनिक सीआरएफ होती हैं। एआरएफ अचानक होता हैं और जबकि क्रोनिक लंबी अवधि का होता हैं। एक्यूट और क्रोनिक किडनी की फेल्योर अलग-अलग कारणों से होती हैं। दोनों प्रकारों का उपचार एक ही हैं। सबसे अधिक बार चुने जाने वाला उपचार या तो डायलिसिस उपचार या किडनी ट्रांसप्लांट हैं। शरीर में अन्य स्थितियों के कारण एआरएफ हो सकता हैं जो किडनी में रक्त के प्रवाह को कम कर देते हैं जिससे रक्त ...