क्रोनिक किडनी डिजीज स्टेज-3 के लिए आयुर्वेदिक उपचार – डा पुनीत धवन

एक व्यक्ति जो क्रोनिक किडनी रोग से परेशान हैं और वो स्टेज 3 पर होने के निदान पर हैं। यानी रोगी किडनी की क्षति के मध्यन स्तर पर हैं। जी हां, जब वो स्टेज 3 पर होता हैं तो सी.के.डी के मध्य होता हैं। साथ ही डॉक्टर कहते हैं कि स्टेज 3 दो हिस्सों में अलग भी होते हैं। “क्रोनिक किडनी डिजीज स्टेज-3 आयुर्वेदिक उपचार”
क्रोनिक किडनी डिजीज स्टेज-3 के लिए आयुर्वेदिक उपचार

क्रोनिक किडनी डिजीज (सी.के.डी) का स्टेज 4:

  • 3A 45-59 मिली/मिनट
  • 3B 30-44 मिली/मिनट

स्टेज 3 में अक्सर मरीज बिना किसी लक्षण के या हल्के लक्षणों के साथ उपस्थित हो सकते हैं। इनकी पेशाब ती जांच में कुछ आसामान्यताएं और रक्त जांच में सीरम क्रिएटिनिन की मात्रा थोड़ी बढ़ी हो सकती हैं। साथ ही किडनी में खून को तनाव से बाहर रखती हैं, लेकिन जब एक रोगी क्रोनिक किडनी डिजीज से पीडित होता हैं तो विनाशकारी उत्पाद खून से संबंधित समस्या पैदा होने लगती हैं। इस सिमस्याओं को अक्सर यूरेमिया कहा जाता हैं। साथ ही जब रोगी किडनी रोग के स्टेज 3 पर होता है तो बाधा4 सबसे भयानक होती हैं और जैसे ही आप रिपोर्ट प्राप्त करते हैं तब उपचार शुरू होना चाहिए। किडनी रोग स्टेज 3 असंतोषजनक प्रभाव ये है कि आप उच्च रक्तचाप और एनीमिया और संयुक्त दर्द से प्रभावित होंगे। “क्रोनिक किडनी डिजीज स्टेज-3 आयुर्वेदिक उपचार”

क्रोनिक किडनी डिजीज स्टेज 3 के के लक्षण:

क्रोनिक किडनी डिजीज स्टेज 3 के आयुर्वेदिक उपचार करें:

आयुर्वेद में प्राकृतिन जड़ी-बूटियों का उपयोग करके दवाएं बनाई जाती है। जो रोग को पूरी तरह से ठीक करने के लिए बेहतरीन माना गया है। भारत में प्रसिद्ध आयुर्वेदिक केंद्र में से एक हैं कर्मा आयुर्वेदा। ये 1937 के बाद दुनिया भर के मरीजों का इलाज कर रहे हैं। इसके नेतृत्व एक अनुभवी आयुर्वेदा चिकित्सक डॉ. पुनीत धवन हैं। वह एलोपैथिक उपचार के अभ्यास पर विश्वास नहीं करते हैं। वह मरीजों को ज़डी-बूटियों और प्राकृतिक तकनीकों के इलाज पर विश्वास रखते है। साथ ही डॉ. पुनीत.धवन भी किडनी रोग के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सा के साथ एक उचित डाइट चार्ट की सलाह भी देते हैं। “क्रोनिक किडनी डिजीज स्टेज-3 आयुर्वेदिक उपचार”