Month: October 2018

कर्मा आयुर्वेदा रिव्यू । किडनी पेशेंट – शैलेंद्र सिंह – कर्मा आयुर्वेदा अस्पताल

किडनी-पेशेंट-–-शैलेंद्र-सिंह - Karma Ayurveda Kidney Patient Reviews

मरीज़ शैलेंद्र सिंह जो 53 साल के हैं। वह किडनी बीमारी के लास्ट स्टेज पर थे और हर दिन डायलिसिस लिया करते थे। रोगी ने अपनी जिंदगी जीने की उम्मीद खो दी थी। इस वीडियो में रोगी का बेटा बताता है कि जब वह नियमित रूप से डायलिसिस लिया करता थे तब भी उनका क्रिएटिनिन स्तर तेजी से बढ़ रहा था। फिर उन्होंने कर्मा आयुर्वेदा से इलाज शुरू किया। कर्मा आयुर्वेदा से आयुर्वेदिक इलाज के बाद रोगी में केवल किडनी की बीमारी में ही नहीं ...

किडनी फेल्योर उपचार के बेस्ट तिरुचिरापल्ली के बेस्ट डॉक्टर और अस्पताल

किडनी-फेल्योर-उपचार-के-बेस्ट-तिरुचिरापल्ली-के-बेस्ट-डॉक्टर - Karma Ayurveda

कर्मा आयुर्वेदा अस्पताल भारत के सबसे बेस्ट किडनी उपचार केंद्रो में से एक है। ये 1937 में स्थापित किया गया था और इस अस्पताल के नेतृत्व में डॉ. पुनीत धवन है वह हर साल हजारों किडनी रोगियों का इलाज करते आ रहे हैं। आयुर्वेदिक उपचार में डायलिसिस और किडनी प्रत्यारोपण के बिना इलाज होता है। किडनी फेल्योर के लिए तिरुचिरापल्ली में आयुर्वेदिक डॉक्टर में से एक हैं डॉ. पुनीत धवन। उन्होंने केवल भारत के मरीजों को ही नहीं बल्कि दुनिया भर में किडनी से पीड़ित ...

किडनी फेल्योर उपचार के लिए अलीगढ़ के बेस्ट डॉक्टर और अस्पताल

किडनी-फेल्योर-उपचार-के-लिए-अलीगढ़-के-बेस्ट-डॉक्टर - Karma Ayurveda

किडनी फेल्योर के लिए आयुर्वेदिक दवाएं काफी फायदेमंद साबित हुई हैं। कर्मा आयुर्वेदा भारत के प्रसिद्ध अस्पताल में से एक हैं। जिसमें आयुर्वेदिक दवाओं से लाखों किडनी रोगियों का इलाज किया है। आयुर्वेदिक दवाएं 100% नेचुरल होती है और उससे कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होता हैं। किडनी उपचार केंद्र कर्मा आयुर्वेदा, योग्य आयुर्वेदचार्य डॉ. पुनीत धवन के मार्गदर्शन में किडनी रोग के लिए सबसे ज्यादा सहायता प्रदान की हैं। कर्मा आयुर्वेदा में रोगियों को आयुर्वेदिक दवाओं के साथ डाइट चार्ट की भी सलाह दी जाती ...

किडनी रोग के लिए आहार योजना, किडनी ट्रीटमेंट इन इंडिया कर्मा आयुर्वेदा डॉ. – पुनीत धवन

किडनी-रोग-के-लिए-आहार-योजना - Karma Ayurveda

आप सब जानते हैं कि किडनी शरीर में अधिक पानी, नमक और अन्य क्षार को पेशाब द्वारा शरीर से बाहर निकालकर इन पदार्थो का संतुलन बनाने का महत्वपूर्ण कार्य करती है। किडनी रोग में ये नियंत्रण का कार्य ठीक तरह से नहीं होते है और इसके किडनी रोग के मरीजों में पानी, नमक, पोटैशियम युक्त खाध्य पदार्थ आदि सामान्य मात्रा में लेने पर भी कई बार गंभीर समस्या उत्पन्न हो सकती है। किडनी रोग के मरीजों में कम कार्य किडनी को अधिक बोझ से बचाने ...